मुस्लिम वक्फ बोर्ड भूमि जिहाद की जड़

समता कुमार (सुनील) “मुस्लिम वक्फ बोर्ड Vs जिंदल ग्रुप and others केस” बीते शुक्रवार को जिस दिन देश भर में मुस्लिमों द्वारा अलविदा नमाज पढ़ी जा रही थी तब देश की सुप्रीम कोर्ट एक ऐसे अहम मामले में फैसला सुना रहा था,कि आगामी समय में देश की दशा और दिशा बदल सकता है।वो केस था […]

Continue Reading

ग्रहों और सितारों के बीच क्या होता है फर्क

आपको मतभेदों के कारणों के साथ इन दोनों के बीच के अंतर पर स्पष्ट समझ मिल सकती है। जब भी कोई नया सौर मंडल बनाया जाता है, तो सबसे पहले तारे बनते हैं, जबकि ग्रह बाद में तारे की कक्षा के भीतर बनते हैं। रात में, जब आप आकाश में ऊंचे उठते हैं, तो आप […]

Continue Reading

श्री नागा बाबा ठाकुरबाड़ी के अध्यक्ष सह महंत बनाए गए श्री राजाराम शरण जी महाराज

पटना: अक्षय तृतीया के शुभ अवसर पर श्री नागा बाबा ठाकुरबाड़ी परिसर में संतो भक्तों एवं वैष्णो श्रद्धालुओं तथा वरिष्ठ जनों की उपस्थिति में श्री नारायण दास भक्त माली उपाख्य श्री मामा जी महाराज के प्रिय शिष्य श्री राजाराम शरण जी महाराज को चादर पोशी एवं तिलक कर श्री नागाबाबा ठाकुरबाड़ी के अध्यक्ष सह महंथ […]

Continue Reading

अमन और भाईचारे का पैगाम लेकर आता है ‘ईद’

Nitu Sinha/ Editor/TheInkk ईद एक ऐसा त्यौहार है, जिसमें लोग अपने सभी गिले-शिकवे भूलाकर एक-दूसरे के साथ मिलकर जश्न मनाते हैं। इस मौके पर लोग अपने घरों में तरह-तरह के पकवानों का लुफ्त उठाते हैं। साथ ही दोस्त और रिश्तेदारों से मिलने जाते हैं। लेकिन हमारे बीच कई ऐसे लोग हैं, जो इस मौके पर […]

Continue Reading

मुख्यमंत्री ने प्रदेश एवं देशवासियों को ईद की मुबारकबाद दी

पटना:- मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ईद-उल-फित्र के मौके पर प्रदेश एवं देशवासियों विशेषकर मुस्लिम भाई-बहनों को ईद की बधाई एवं शुभकामनायें दी हैं। मुख्यमंत्री ने अपने शुभकामना संदेश में कहा कि पवित्र रमजान के महीने में रोजेदारों द्वारा की गयी इबादतों से उनके घर-परिवार के साथ-साथ प्रदेश और देश में शान्ति एवं समृद्धि आयेगी। मेरी […]

Continue Reading

रावण की पुरोहित कथा – पंडित नरेन्द्र प्रसाद दूबे

*महापंडित लंकाधीश रावण रामेश्वरम में शिवलिंग की स्थापना के समय पुरोहित कैसे बने  *बाल्मीकि रामायण और तुलसीकृत रामायण में इस कथा का वर्णन नहीं है, पर तमिल भाषा में लिखी महर्षि कम्बन की ‘इरामावतारम्’ मे यह कथा है।* *रावण केवल शिवभक्त, विद्वान एवं वीर ही नहीं, अति-मानववादी भी था..। उसे भविष्य का पता था..। वह […]

Continue Reading