‘अवसर-50’ टेस्ट परीक्षा में सफल स्टूडेंट्स का अगले सप्ताह में होगा इंटरव्यू

देश

सीबीएसई बोर्ड परीक्षा समाप्त होने के बाद संस्था के द्वारा ली जाएगी टेस्ट

पटनाः परोपकार जिनकी नियति में शामिल है, प्रतिभा को सम्मान देना उसे तन-मन-धन से प्रोत्साहित करना आर के सिन्हा की प्रवृति में शामिल है। आरके सिन्हा उर्फ रविंद्र किशोर सिन्हा की संस्था अवसर ट्रस्ट ने बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश सहित देश के अन्य जगहों पर अवसर 50 के लिए वर्ष 2022 से 2024 सेशन के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित किया था। इस प्रवेश परीक्षा में लगभग 3000 स्टूडेंट्स शामिल हुए थे। जिसके प्रथम और दूसरे चरण का टेस्ट परीक्षा हो चुका है। अब फाइनल चयन के लिए इंटरव्यू होना बाकी है,इसकी जानकारी देते हुए अवसर ट्रस्ट के डायरेक्टर मैथमेटिक्स गुरु आरके श्रीवास्तव ने बताया कि अभी वर्तमान में सीबीएसई बोर्ड का एग्जाम चल रहा है जैसे ही सीबीएसई बोर्ड का एग्जाम समाप्त होगा उसके अगले वीक में इंटरव्यू के माध्यम से फाइनल चयन कर लिया जाएगा।

क्या है अवसर 50

अवसर (Awasar) 50 की स्थापना पूर्व राज्यसभा सांसद रविंद्र किशोर सिन्हा ने उन आर्थिक रुप से गरीब स्टूडेंट के लिए किया है, जिनके सपने बड़े होते है, लेकिन आर्थिक तंगी के कारण वह सपना टूटने लगता है, लेकिन अब आर्थिक तंगी वाले भी स्टूडेंट्स आईआईटियन बन रहे हैं। अवसर ट्रस्ट 50 (Awasar Trust 50) आर्थिक रुप से गरीब स्टूडेंट्स का चयन करके उसे नि:शुल्क शिक्षा के अलावा पटना में रहने खाने की सारी व्यवस्था फ्री देता है।

आपको बताते चलें कि पिछले वर्ष अवसर ट्रस्ट (Awasar 50) से पढ़कर पटना के मजदूर की बेटी दिव्या आईआईटी धनबाद (IIT Dhanbad) पहुंच चुकी है तो वहीं, गिरिडीह के मोमबत्ती बेचने वाले का बेटा पिंटू वर्णवाल आईआईटी बीएचयू में दाखिला लेकर अपने सपनों को पंख लगा रहा है।

इसके अलावा सोनपुर के प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड का बेटा दिवाकर जेईई मेन और जेईई एडवांस में सफलता पाकर आज ट्रिपल आईटी इलाहाबाद में पढ़ाई कर रहा है। ऐसे अनेकों स्टूडेंट अपने आर्थिक रूप से गरीबी को पीछे छोड़कर अपने सपनों को पंख लगा चुके हैं। सबसे बड़ी बात अवसर 50 का यह है कि इस संस्था से पढ़ने वाला मोकामा का स्टूडेंट् अभिषेक सिन्हा ने जेईई एडवांस में ऑल इंडिया रैंक 245 लाया था जो अभी आईआईटी रुड़की में पढ़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.