अमेरिका ने अपने एथलीट्स से कहा- रेगुलर मोबाइल फोन चीन न ले जाएं, कामचलाऊ बर्नर फोन का इस्तेमाल करें

खेल

चीन की राजधानी बीजिंग में शुक्रवार यानी 4 फरवरी से विंटर ओलिंपिक्स का आगाज हो रहा है। अमेरिका समेत कई पश्चिमी देशों ने खेलों का डिप्लोमैटिक बायकॉट किया है। अब अमेरिका ने एथलीट्स की सुरक्षा के लिहाज से एक और कदम उठाया है। फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन यानी FBI ने अमेरिकी एथलीट्स से कहा है कि वो अपने रेगुलर मोबाइल फोन चीन न ले जाएं, बल्कि इनकी जगह प्रीपेड बर्नर फोन का इस्तेमाल करें।

बर्नर फोन का मतलब ऐसे मोबाइल फोन्स से है, जो सस्ते और कामचलाऊ होते हैं। इन्हें इस्तेमाल के बाद नष्ट यानी डेस्ट्रॉय किया जा सकता है। 2002 में HBO की ड्रामा सीरीज में पहली बार ‘बर्नर फोन’ शब्द का इस्तेमाल हुआ था। बर्नर टर्म का मतलब यूज एंड थ्रो माना जा सकता है।

आखिर खतरा किस बात का
अमेरिका और दुनिया के कई देशों को लगता है कि उनके एथलीट्स के फोन के सेफ्टी फीचर्स को किसी बग के जरिए निशाना बनाया जा सकता है। चीन में इस तरह की हरकतें आम हैं। वो अपने नागरिकों के साथ भी यही हरकत करता रहा है। इससे बचने के लिए ही FBI ने अमेरिकी एथलीट्स को सख्त आदेश जारी किए हैं कि वो अपने आईफोन या स्मार्टफोन घर पर ही छोड़कर जाएं। इनकी जगह टेम्परेरी फोन इस्तेमाल करें। बीजिंग विंटर ओलिंपिक्स 4 से 20 फरवरी तक होंगे।

वैसे अमेरिका ही क्यों, कई पश्चिमी देशों की नेशनल ओलिंपिक कमेटीज ने भी अपने एथलीट्स को भेजे सर्कुलर में साफ कहा है कि वे अपने पर्सनल इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स बीजिंग लेकर न जाएं, क्योंकि वहां साइबर सिक्योरिटी एक बहुत बड़ा चैलेंज है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.