पूर्व प्राचार्या रवि प्रभा प्रसाद की पहली पुण्यतिथि पर दी गई श्रद्धांजलि

देश

डुमरांव महारानी उषारानी बालिका उच्च विद्यालय की पूर्व प्राचार्या रवि प्रभा प्रसाद की पहली पुण्यतिथि पर उनके तैलचित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। वही सुंदरकांड का पाठ हुआ। इस दौरान उनके जीवनी पर प्रकाश डालते हुए वक्ताओं ने कहा कि कोरोना काल में उनका निधन हो गया था। डुमराव अनुमंडलीय अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष सह समाजसेवी शम्भू शरण नवीन की धर्मपत्नी स्व रवि प्रभा प्रसाद ने पहले उच्च विद्यालय मुकुंदडेरा में शिक्षक के रूप में सेवा देने के बाद पुनः अपने मूल विद्यालय राजगढ़ स्थित महारानी उषारानी बालिका उच्च विद्यालय की प्राचार्या पद पर रहते हुए अपने कुशल प्रबंधन की वजह से विद्यालय को संयोजने का कार्य किया।

साइंस की शिक्षिका रही रवि प्रभा साइंस के तीनों फैकल्टी यानी विज्ञान, गणित की जानकारी की वजह से छात्राओं को बेहतर सुविधा मुहैया कराने को प्रतिबद्ध रही। श्रद्धांजलि सभा में नगर परिषद की निवर्तमान चेयरमैन भगमनी देवी, पूर्व शिक्षक केदार पांडेय, अप्पू दादा, लेफ्टीनेंट कर्नल
विशाल शरण, मेलबर्न में कार्यरत विवेक शरण,विद्या लक्ष्मी,डॉ शशि भूषण श्रीवास्तव,गीता ओझा, रामनाथ तिवारी,अजीतपाल सिंह, टेलहा सिंह, अमर जायसवाल,राजन शरण,मुकुल शरण,प्रदीप शरण, दशरथ प्रसाद विद्यार्थी, भष्माकर दूबे, विद्याभूषण श्रीवास्तव,दिलीप शरण, संजीव श्रीवास्तव,वैभव शरण, अमन शरण,बासु, हर्षित श्रीवास्तव,अभिषेक श्रीवास्तव, अभ्यनन्द पांडेय,अनिल श्रीवास्तव,डीपी सिन्हा,अरुणा श्रीवास्तव, दिनेश प्रसाद श्रीवास्तव, शशि कुमार,इंद्रजीत लाल,ईशान शरण,मेधांश,तेजानश आदि रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.