भगवान परशुराम जी का जन्म, अन्याय, अधर्म व पाप के विनाश के लिए हुआ थाः रामनाथ तिवारी

देश


डुमरांव (बक्सर) : परशुराम चाणक्य विचार मंच के तत्वाधान में डुमरांव शाखा कार्यालय में मंच के भगवान श्री परशुराम की जयंती मनाई गई।सबसे पहले उनके तैल चित्र पर पुष्प अर्पित कर वैदिक मंत्रोचार के साथ पूजा अर्चना किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कमल किशोर राय ने की जबकि संचालन तुलसी तिवारी ने किया। मुख्यअतिथि के रूप में परशुराम चाणक्य विचार मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष राम नाथ तिवारी ने पूजा अर्चना करते हुए कहा कि भगवान परशुराम जी का जन्म, अन्याय, अधर्म व पाप के विनाश के लिए हुआ था।भगवान विष्णु ने अपना छठा अवतार भी माना गया है। जिनमें शिव का संहारक गुण भी प्राप्त था।कहा जाता है कि इस दिन दान करने से पुण्य की प्राप्ति होती है। उन्होंने पूर्व की मांगो को रखते हुए कहा कि कक्षा एक से स्नातकोत्तर तक भगवान श्री परशुराम जी की जीवनी को पाठ्यक्रम में शामिल की जाए।इसके साथ ही 3 मई को राजकीय अवकाश घोषित करने के साथ ही डुमरा अनुमंडल क्षेत्र के खाली पड़े ग्लेज्डटाइल्स जमीन को आवंटित की जाए ताकि जन सहयोग के माध्यम से भगवान श्री परशुराम की आदमकद प्रतिमा स्थापित की जा सके। उन्होंने कहा कि इसको लेकर सम्पर्क अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस मांग को लेकर प्रधानमंत्री, संचार मंत्री व बिहार के मुख्यमंत्री को पत्राचार के माध्यम से गुहार लगाई गई है।
वही कांग्रेस नगर अध्यक्ष कृष्ण मोहन त्रिपाठी ने कहा कि बिहार में उनकी जयंती पर सरकारी अवकाश घोषित की जानी चाहिए। वही मांगो के प्रति कमल किशोर राय ने समर्थन जताते हुए संकल्पित हुए।इस दौरान भष्माकर दुबे, ओम प्रकाश दुबे ,सतन चौबे,आदर्श तिवारी,अभिषेक कुमार, भीम तिवारी, रोहित तिवारी, अशोक कुमार दुबे, अजय प्रताप सिंह,अमित कुमार ,पिंटू सिंह ,सुधीर कुमार सिंह, मोहम्मद इकबाल,दया शंकर प्रसाद, बबलू जायसवाल, शशिकांत तिवारी, रविशंकर श्रीवास्तव,लालू तिवारी आदि मौजूद रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.