दुनिया में भारत का चुनाव जीवंत लोकतंत्र का प्रमाण है

-मनोज कुमार श्रीवास्तवभारत के जीवंत लोकतंत्र की सराहना करते हुए व्हाइट हाउस ने मौजूदा चुनावों में भारतीय नागरिकों की महत्वपूर्ण भागीदारी को मान्यता दी है।व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा संचार सलाहकार जॉन किर्बी ने शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान भारत की लोकतांत्रिक प्रक्रिया की काफी प्रशंसा की है।किर्बी ने भारतीय चुनावों के व्यापक […]

Continue Reading
R.K.Sinha

हाशिये पर जाती बहुजन समाज पार्टी

-आर.के. सिन्हा बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने अपने भतीजे आकाश आनंद को अपनी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक के पद से हटा दिया है। छह महीने पहले ही उन्होंने आकाश को धूम – धाम से अपना उत्तराधिकारी भी घोषित किया था। उन्होंने कहा कि आकाश तब तक उनके राजनीतिक उत्तराधिकारी नहीं बन सकते , […]

Continue Reading
R.K.Sinha

भीषण गर्मी में मतदान ही तो ताकत है भारतीय लोकतंत्र की

–आर.के. सिन्हा आज जब देश के बहुत बड़े  भाग में सूरज देवता आग उगल रहे हैं, तब लोकसभा चुनाव के लिए जनता मतदान करने के लिए अपने घरों से निकल रही है। भारत के कई राज्यों में तापमान 42 डिग्री सेल्सियस से भी ऊपर हो गया है। इसके साथ ही लू भी चल रही है। इतने […]

Continue Reading

सम्राट चौधरी के रास्ते में उपेंद्र कुशवाहा बन सकते हैं रोड़ा

बिहार के पॉलिटिकल कॉरिडोर में यह चर्चा है कि पवन सिंह के काराकाट से चुनाव लड़ने के पीछे बीजेपी के कुछ प्रमुख नेताओं की रणनीति है। इस केंद्रबिन्दु में इस बार नीतिश कुमार नहीं बल्कि उपेन्द्र कुशवाहा है। उपेंद्र कुशवाहा लोकसभा चुनाव जीतने के बाद जदयू में शामिल हो सकते है। ऐसी संभावना भी जतायी […]

Continue Reading
R.K.Sinha

पाक क्यों चाहता भारत से कारोबारी संबंधों की बहाली

–आर.के. सिन्हा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ ने अपने देश की रसातल में जा रही अर्थव्यवस्था की स्थिति पर विचार करने के लिए बीती 26 अप्रैल को अपने मुल्क के उद्योगपतियों से कराची में मुलाकात की। वहां सवाल-जवाब का लम्बा दौर भी चला। इस दौरान पाकिस्तान के चोटी के उद्योगपति और आऱिफ हबीब ग्रुप के चेयरमेन आरिफ […]

Continue Reading

मजदूर को मजबूर समझना हमारी सबसे बड़ी भूल

मजदूर दिवस (1 मई विशेष) मेहनत उसकी लाठी है,मजबूती उसकी काठी है।बुलंदी नहीं पर नीव है,यही मजदूरी जीव है।मजदूर को मजबूर समझना हमारी सबसे बड़ी भूल है, वह अपने खून पसीने की कमायी खाता है। ये ऐसे स्वाभिमानी लोग होते है, जो थोड़े में भी खुश रहते है एवं अपनी मेहनत व लगन पर विश्वास […]

Continue Reading
R.K.Sinha

पाक की स्याह सियायत का चेहरा जरदारी

आर.के. सिन्हा आसिफ अली जरदारी करप्शन के आरोपों के सिलसिले में 11 साल जेल में रहे। पर, किस्मत का खेल देखिए कि अब वह दूसरी बार पाकिस्तान के राष्ट्रपति बन गए हैं। यही पाकिस्तान की राजनीति के स्याह चेहरे का सच है। पिछले तीन दशकों से, वे जेल और सत्ता के नजदीक रहे हैं। उन्हें संभवतः पाकिस्तान […]

Continue Reading

डुमरांव घराना के पं.रामजी मिश्र लहरा रहे हैं देश-दुनिया में परचम

-मनोज कुमार श्रीवास्तव बिहार में ध्रुपद के तीन घराने दरभंगा, डुमरांव और बेतिया है।जिसमें डुमरांव घराना सबसे प्राचीन अर्थात लगभग 500 वर्षों का घराना है। डुमरांव घराने के प्रतिनिधि कलाकार प0 रामजी मिश्र हैं जो अपनी प्रस्तुति से डुमरांव घराने के परचम भारत देश अलावे दुनिया के अन्य देशों में लहरा रहे हैं।प0 रामजी मिश्र […]

Continue Reading
R.K.Sinha

सहकारिता से मिलेगा करोड़ों को स्वरोजगार

आर.के.सिन्हा अगर भारत दुनिया की शीर्ष तीन सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक बनने की ओरतेजी से बढ़ रहा है, तो इसमें सहकारी आंदोलन एक महत्वपूर्ण भूमिका रहने वाली है। यह एक ऐसी खिड़की है, जहां से सतत आर्थिक विकास की रोशनी लगातार आ सकती है। इसलिए मोदी सरकार भारत में सहकारिता आंदोलन को गति देना […]

Continue Reading
R.K.Sinha

बांग्लादेश में भारत से एहसान फरामोशी करने वाले कौन

  आर.के.सिन्हा कोई चाहे तो बांग्लादेश के विपक्ष से एहसान फरामोशी  सीख सकता है। जिस भारत ने बांग्लादेश को , या यूँ कहें कि 1970 तक के पूर्वी पाकिस्तान, की प्रताड़ित और पीड़ित आम  जनता के हितों की रक्षा के लिए पाकिस्तान से युद्ध मोल लिया, उस बांग्लादेश की प्रमुख विपक्षी दल बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) लगातार भारत के […]

Continue Reading